Monday, March 29, 2010

मां और मुल्क बांटे नहीं जाते: राज कंवर

हमको दीवाना कर गए के बाद अब फिल्म निर्देशक राज कंवर सदियां लेकर आ रहे हैं। यह एक पीरियड फिल्म है। इससे राज कंवर शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा को लॉन्च कर रहे हैं। वे ऋषि कपूर, हेमा मालिनी और रेखा के साथ मुख्य भूमिका निभा रहे हैं। सदियां के बारे में जानिए राज कंवर से..
ऐसे बनी कहानी: बचपन में दादी मुझे पार्टीशन के टाइम की कहानी सुनाती थीं। वह कहानी मेरे दिमाग में थी। बचपन में मैंने पार्टीशन के बारे में लोगों से भी कई कहानियां सुनी थीं। मैं उन कहानियों पर बुक लिख रहा था सदियां। मैंने जब कहानी लोगों को सुनाई, तो सबने कहा कि आप इस पर फिल्म क्यों नहीं बनाते? मुझे लोगों का सुझाव अच्छा लगा। सदियां सच्ची घटना पर आधारित फिल्म है।
कहानी त्याग-बलिदान की: सदियां त्याग और बलिदान का अनूठा संगम है। यह दो पीढि़यों की कहानी है। पिक्चर पार्टीशन के वक्त से शुरू होती है। उस वक्त की बातें कहती है और एक लव स्टोरी पैदा होती है। लव स्टोरी के साथ एक इश्यू उठता है और फिर कैसे वह इश्यू सॉल्व होता है? यही फिल्म में है। कहानी हिंदुस्तान और पाकिस्तान को लेकर है। मां और मुल्क बांटे नहीं जाते, यही इसकी थीम है।
चुनौतियां भी थीं: मां और दादी ने पार्टीशन के समय की जो बातें बताई थीं, वे मेरे मन में जीती जागती तस्वीर की तरह थीं। उसे विजुअलाइज करना मेरे लिए मुश्किल नहीं था। मेरे लिए प्रॉपर्टी इकट्ठा करना मुश्किल था। हमने उस टाइम का सेट एनडी स्टूडियो में बनाया। हमने पहली बार पुराने अमृतसर में शूट किया। अटारी बॉर्डर पर शूट किया है। बॉर्डर के करीब गांव में शूट किया। हमने रोमांटिक सीन कश्मीर और श्रीनगर में शूट किया, जो मुश्किल काम था।
साथ रेखा और हेमा जी का: फिल्म सदियां में हेमा मालिनी और रेखा जी भी हैं। मैं बचपन से इनका फैन था, लेकिन जब मैंने फिल्मी पारी शुरू की, तब तक वे रिटायर हो गई। मेरा ड्रीम था ड्रीम गर्ल और दिवा रेखा के साथ काम करना। मैंने कास्टिंग शुरू की, तो सोचा कि क्यों न हेमा और रेखा जी को साथ लाएं। फिल्म में रेखा जी सरदारनी बनी हैं। हेमा जी पाकिस्तान की महिला का रोल कर रही हैं।
नया चेहरा लव: इस फिल्म के लिए मुझे एक ऐसे लड़के की तलाश थी, जो पार्टीशन के समय का हिंदुस्तानी लड़का दिखे। काफी खोज के बाद मुझे लव मिले। लव शत्रुघ्न सिन्हा और पूनम सिन्हा के बेटे हैं। मैं उन्हें लॉन्च कर रहा हूं। लव ने फिल्म में बहुत अच्छा काम किया है। एक्टिंग उनके खून में है। लव का भविष्य बहुत अच्छा है। जब-जब उन्हें अच्छे डायरेक्टर मिलेंगे, वे अपनी छाप छोड़ेंगे।
मधुर संगीत: मेरी पिछली फिल्मों की तरह इस फिल्म का संगीत भी सुरीला है। हिप-हॉप के जमाने में सुरीला संगीत लोगों को जरूर पसंद आएगा। सदियां का संगीत अदनान सामी ने तैयार किया है। उम्मीद है, फिल्म के म्यूजिक पर लोग नाचेंगे।
-raghuvendra singh

2 comments:

आशुतोष दुबे said...

aapne sahi baat kahi hai.
हिन्दीकुंज

Hapi said...

hello... hapi blogging... have a nice day! just visiting here....