Monday, December 7, 2009

आंखें बंद कर मेरी नकल मत करे-आमिर खान

फिल्म गजनी के लिए आमिर खान ने महज तेरह महीने में 'एट पैक एब्स' बनाकर तमाम लोगों को हैरत में डाल दिया था। प्रतिदिन जिम में घंटों वर्कआउट करने वाले देश भर के नवयुवकों के लिए वह अचानक आदर्श बन गए। अब आमिर ने नई फिल्म थ्री इडियट्स के लिए अपनी बॉडी को एक नया लुक दिया है। आइए जानते है आमिर खान की फिटनेस के राज
'एट पैक एब्स' की चुनौती
आमिर खान के अनुसार, ''मैं हमेशा फिल्म की पटकथा का अनुसरण करता हूं। मेरे किरदार की जो मांग होती है, मैं वही करता हूं। गजनी का संजय सिंघानिया शारीरिक रूप से ताकतवर था। मेरा शारीरिक रूप से शक्तिशाली होना उस किरदार की मांग थी। शुरू में मुझे पता नहीं था कि मैं यह किरदार निभा सकूंगा या नहीं। ऐसा इसलिए, क्योंकि मैंने अपनी जिंदगी में कभी 'बॉडी बिल्डिंग' नहीं की थी। मुझे पता है कि 'प्रॉपर बॉडी' बनाने में कम से कम दो साल का वक्त लगता है। उस दौरान मेरे पास छह महीने का समय था। मैंने जिस तीव्रता के साथ शरीर को शक्तिशाली बनाने की प्रक्रिया शुरू की, उस तरह का प्रयास एक सामान्य व्यक्ति को कभी नहीं करना चाहिए। यह बात सेहत के लिए अच्छी नहीं है। सौभाग्यवश मुझे बॉडी बनाने के लिए 13 महीने का समय मिल गया।''
इन बातों पर दें ध्यान
''मैं थ्री इडियट्स में 20 साल के युवक की भूमिका निभा रहा हूं। इस किरदार के लिए मुझे 'लीन बॉडी' की दरकार थी। इसके लिए मुझे मांसपेशियों को ढीला करना था। इस कार्य के लिए मैंने कोई प्रशिक्षक नहीं रखा। प्रतिदिन सुबह मैं दो घंटे बैडमिंटन खेलता था। संतुलित-पौष्टिक भोजन ग्रहण करता था। गजनी के लिए तो मैं रोज साढ़े तीन घंटे वर्कआउट करता था। एक निश्चित आहार ग्रहण करता था। हफ्ते में छह दिन वर्कआउट करता था और एक दिन छुंट्टी लेता था। उस दौर में सत्यजीत चौरसिया मेरे प्रशिक्षक थे। मुझे पता नहीं है कि मैं इस उम्र में अपनी बॉडी के साथ जो कर रहा हूं वह सही है या गलत। बहरहाल, मैं किसी अन्य व्यक्ति को अपने फिटनेस कार्यक्रम का अनुसरण करने की सलाह नहीं दूंगा। मुझे नहीं लगता कि डॉक्टर भी किसी को ऐसा करने की सलाह देंगे।''
डाइटिंग का मतलब समझें
''डाइटिंग का मतलब है सही और स्वास्थ्यकर आहार ग्रहण करना। जो लोग डाइटिंग के नाम पर खाना बंद कर देते हैं, वह गलत तरीका है। डाइटिंग का आशय है कि आप स्वास्थ्यकर खाना खाएं। इसका यह मतलब नहीं है कि आप कम खाना खाएं। जब आप भूख से कम खाते हैं, तो इसका दुष्प्रभाव आपकी सेहत पर पड़ता है। कम खाना कभी नहीं खाना चाहिए।''
कारगर टिप्स
''अगर आपका वजन अधिक है और आपके शरीर में वसा की मात्रा ज्यादा है, तो आपको अधिक कैलोरी वाले फूड्स से परहेज करना चाहिए। तभी धीरे-धीरे आपका वजन नियंत्रित होगा। वहीं अगर आप शरीर को मजबूत बनाना चाहते है, तो आपको खान-पान में प्रोटीन की मात्रा बढ़ानी चाहिए। जब आप प्रोटीनयुक्त आहार की मात्रा को बढ़ाते है, तो मेरी राय में आपको हर महीने अपने डॉक्टर के परामर्श से अपना चेकअॅप करवाना चाहिए। यह जानने के लिए कि आपके लिवर, गुर्दे और शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंग ठीक तरह से काम कर रहे हैं या नहीं।''
-रघुवेन्द्र सिंह

2 comments:

अनिल कान्त : said...

nice tips

Murari Pareek said...

अच्छी जानकारी दी !! वैसे बॉडी बनाने का शौक तो मुझे भी है पर आमिर्जी मना कर दिया इसलिए केंसिल !!! बंधू ये वोर्ल verifiction हटा देवें तो लोग टिपण्णी ज़रा अच्छी करेंगे !!! !!!