Tuesday, June 9, 2009

बिपाशा बसु: सच कहने से क्या डरना!

बड़े पर्दे पर बोल्ड किरदार निभाने वाली अभिनेत्री बिपाशा बसु आजकल निजी जीवन में भी काफी बोल्ड हो गई हैं। वे पुरुष प्रधान हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में महिला कलाकारों के साथ होने वाली ज्यादतियों के विरोध में खुलकर आवाज उठा रही हैं। उन्हें इस बात की लेश मात्र भी चिंता नहीं है कि इस मुहिम में अन्य अभिनेत्रियां उनका साथ देंगी या नहीं! बिपाशा अपनी बात कहती हैं, मैं सच कहने से डरती या हिचकिचाती नहीं हूं। फिल्म इंडस्ट्री में हमेशा से पुरुष कलाकारों का दबदबा रहा है। यदि अभिनेता अपने से कम उम्र की अभिनेत्री के साथ काम करते हैं, तो किसी की भौंहें नहीं तनतीं, लेकिन यदि अभिनेत्री किसी कम उम्र अभिनेता के साथ काम करती है, तो उससे सौ सवाल किए जाते हैं। हाल की ही बात है। निर्देशक अब्बास-मस्तान की सफल फिल्म रेस का सिक्वल बनने की तैयारी चल रही है। मैं उनकी फिल्म रेस का हिस्सा थी, लेकिन मुझे उसके सिक्वल से बाहर रखा गया है। यह सभी जानते हैं कि किसी भी फिल्म की सफलता में उससे जुड़े हर कलाकार का बराबर योगदान होता है। फिर मुझे रेस के सिक्वल में क्यों नहीं लिया गया?
अब्बास-मस्तान निर्देशित रेस पिछले वर्ष की सफल और लोकप्रिय फिल्म है। हाल में फिल्म केनिर्माताओं ने उसके सिक्वल के निर्माण की बात कही और उस काम शुरू किया। रेस के सिक्वल में सैफ अली खान के साथ अब करीना कपूर को साइन किया गया है, जबकि ओरिजिनल फिल्म का हिस्सा रहीं बिपाशा और कैटरीना कैफको फिल्म से बाहर कर दिया गया है। कैटरीना इस मामले में चुप्पी साधे बैठी हैं, लेकिन बिपाशा खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर कर रही हैं। उनकेनाराज होने की एक खास वजह और भी है। वे करीना को अपना प्रतिद्वंद्वी मानती हैं। पहली फिल्म अजनबी के निर्माण के समय से ही उनके और करीना के बीच संबंध मधुर नहीं हैं। बिपाशा प्रतिक्रिया व्यक्त करती हैं, अब्बास-मस्तान मेरे पहले निर्देशक हैं। मैं उनसे जरा भी नाराज नहीं हूं। मुझे इस बात का भी दुख नहीं है कि मुझे रेस के सिक्वल में नहीं लिया गया। यदि उन्होंने करीना को इसके लिए साइन किया है, तो मेरी शुभकामनाएं उनके साथ हैं। मैं इस बात से बेहद खुश हूं, लेकिन मेरे मन में यह बात बार-बार उठ रही है कि निर्माता क्यों फिल्म के सिक्वल से अभिनेत्रियों को दूर कर देते हैं?
बिपाशा के लिए पिछला वर्ष बेहद सुखद रहा। उनकी फिल्में रेस और बचना ऐ हसीनों बॉक्स ऑफिस पर अच्छा बिजनेस करने में सफल हुई। इस वर्ष उनकी पहली फिल्म आ देखें जरा प्रदर्शित हुई, जो ठीक-ठाक गई। हाल में बिपाशा ने राहुल ढोलकिया की फिल्म लमहा की शूटिंग पूरी की है। फिलहाल, उनकी निगाहें अपनी नई फिल्म पंख पर टिकी हैं। इस फिल्म में वे एक बार फिर अपने से कम उम्र के अभिनेता मैराडेना रिबेलो के साथ रोमांस करती दिखेंगी। फिल्म के बारे में बात करने की बजाए बिपाशा अपनी निर्माणाधीन फिल्म ऑल द बेस्ट की चर्चा उत्साहित होकर करती हैं। वे कहती हैं, पिछले दिनों मैं गोवा में संजय दत्त, अजय देवगन और फरदीन खान के साथ इस फिल्म की शूटिंग कर रही थी। रोहित शेट्टी इसके निर्देशक हैं। यह कॉमेडी फिल्म है। मैं फिल्म की कहानी के बारे में ज्यादा नहीं बता सकती। मुझे फिल्म की शूटिंग में मजा आया। संजय, अजय, फरदीन, रोहित और मैं गोवा के बीच पर शूटिंग तो करते ही थे, साथ ही मस्ती भी करते थे।
ग्लैमरस बिपाशा की मांग आज भी मॉडलिंग व‌र्ल्ड में बरकरार है। कह सकते हैं कि हाल के दिनों में उनकी मांग और बढ़ गई है। शाहरुख खान पहले अभिनेता हैं, जिन्होंने महिलाओं के प्रोडक्ट को इंडोर्स किया है और अब बिपाशा पहली अभिनेत्री बन गई हैं, जो पुरुषों के प्रोडक्ट की ब्रांड अंबेसडर बनी हैं। उन्हें हाल में पुरुष डियोड्रेंट का ब्रांड अंबेसडर बनाया गया है। अपनी इस उपलब्धि से बिपाशा काफी खुश हैं। यह सवाल सबके जेहन में उठता है कि अभिनेता और अभिनेत्री जिन प्रोडक्ट्स को इंडोर्स करते हैं, उनका इस्तेमाल क्या वे स्वयं करते हैं? जवाब में बिपाशा कहती हैं, मैं बस अपने बारे में बता सकती हूं। मैं उन्हीं प्रोडक्ट का प्रचार करती हूं, जिनकी गुणवत्ता पर मुझे भरोसा होता है। जिन्हें मैं खुद इस्तेमाल करना पसंद करती हूं। मैं प्रोडक्ट के बारे में जांच-पड़ताल करने के बाद ही उसके साथ जुड़ती हूं। मैं अपने प्रशंसकों को गुमराह नहीं कर सकती।
-रघुवेन्द्र सिंह

2 comments:

AlbelaKhatri.com said...

bahut achha !

बसंत आर्य said...

जैसी बिपाशा वैसा ही लेख